अश्वगंधा

अश्वगंधा

अश्वगंधा का विभिन्न प्रकार से प्रयोग

आइए जानते हैं अश्वगंधा का नाम अश्वगंधा क्यों पड़ा अश्व मतलब होता है घोड़ा होता है और घोड़े की तरह ताकतवर इस धरती पर कोई भी जानवर नहीं है अश्वगंधा का सेवन करने से हमें हमारे शरीर में स्फूर्ति और कमजोरी से लड़ने के लिए यह सहायता प्रदान करता है और हमारे शरीर में बहुत तेज उत्पन्न हो जाता है

आइए जानते अश्वगंधा का प्रयोग किन किन चीजों के लिए हम कर सकते हैं और यह हमारे जीवन में किस प्रकार से सहायता करता है

मोटापा के लिए

आप सभी को पता है कि मोटापा एक आम बात हो गई है मोटापा हमारे शरीर के लिए बहुत हानिकारक बनता जा रहा है जिसकी वजह से कई बीमारियां बिन बुलाए मेहमानों की तरह प्रकट हो जाती हैं हमारे शरीर में और मोटा से भी लेकर हम कोई कार्य भी ढंग से नहीं कर सकते हैं और हम अच्छे भी नहीं लगते इस वजह से मोटापा को दूर करने के लिए अश्वगंधा से अच्छा कोई भी प्रयोग नहीं है अगर हम इसका प्रयोग सही ढंग से करते हैं तो


सामग्री आपको क्या लेना

अश्वगंधा का पत्ता
गर्म पानी

प्रयोग

आपको अश्वगंधा का एक से डेढ़ पता लेना है उसे हथेलियों के बीच में रखकर मसल लेना है और उस मसले हुए पत्ते को गर्म पानी के साथ निगल कर उसका सेवन करना है।
यह प्रक्रिया दिन में 3 बार करें और 3 दिनों तक करें फिर इसे 15 दिन बाद दोहराए अर्थात कहने का मतलब यह है कि आप हमेशा 33 का पेड़ बनाकर 3 दिनों तक इसे सेवन करें फिर ज्ञात करके 15 दिनों के बाद फिर से इसकी शुरुआत करें और साथ में अश्वगंधा के साथ-साथ आपको प्रणाम आसन भी बराबर तरीके से करना है जिससे आपका मोटापा जल्द ही खत्म हो जाए क्योंकि आपको पता है किसी भी चीज का सेवन करने से हमें लाभ तभी मिलेगा जब हम उसका प्रयोग सही ढंग से करें और हमें किसी भी चीज का प्रयोग प्राणायाम आसन से हमारे शरीर में दुर्बलता की कमी होगी और हम एक स्वस्थ जीवन जिएंगे इससे हमारा मोटापा जल्द ही खत्म हो जाएगा

शरीर में दर्द व सूजन के लिए

आपको कुछ करना नहीं है अश्वगंधा का पत्ता लेना है उसे पानी में डालकर उबाल लें जब वह पक जाए तो उसमें सेंधा नमक डालने फिर उस मिश्रण को अपने दर्द वाले भाग पर या जहां चोट लगी है सूजन है दर्द है उस स्थान पर इस मिश्रण से सिकाई करें आपको जरूर लाभ मिलेगा

अगर आपको दर्द बना है शरीर में वह आराम नहीं हो रहा है या कहीं मोच गया है या मोच की वजह से सूजन हो रहा है तो आपको अश्वगंधा का बड़ा साइज का एक पत्ता लेना है उस पर देसी गाय का देसी घी और हल्का सा सेंधा नमक छिड़क कर उससे गर्म कर ले फिर सहनीय अवस्था में उसे उस जगह पर बांध ले आपको जरूर लाभ मिलेगा

हृदय शूल के लिए

किसी व्यक्ति को हृदय शूल जैसी गंभीर समस्या है तो उसके लिए आप को डरने की जरूरत नहीं है उसके लिए आपको अर्जुन की छाल वह अश्वगंधा का पाउडर लेना है उसे बराबर मात्रा में मिलाकर गर्म पानी के साथ दो से तीन बार सेवन करना है इससे आपको भी राहत मिलेगा

खांसी से राहत पाने के लिए

आप सभी को पता है कि सर्दियों के मौसम में खासी जैसी समस्या आम हो जाती है और इससे हमारा जीवन थोड़ा सा डिस्टर्ब हो जाता है तो उसके लिए आपको करना क्या है अश्वगंधा की जड़ को लेना है उसे अच्छी तरीके से साफ करके उसे पानी में उबाल लें जब पानी दो ग्लास पानी लें और उबालकर अगर आधा गिलास पानी बचे तब उसका डी रूपी सामग्री को पी लेना है और दिन में 3 बार पीना है इससे आपको खांसी जैसी समस्या से राहत मिलेगी

शरीर की कमजोरी के लिए

अश्वगंधा घोड़े जैसी तीव्र शक्ति प्रदान करने वाला यह पौधा आपको आपकी कमजोरी को दूर करेगा। आपको करना क्या है अश्वगंधा के पाउडर को सुबह-शाम एक-एक चम्मच दूध के साथ लेना है आप कुछ ही महीनों में आपको फर्क नजर आ जाएगा और आपके शरीर में हो रहे कमजोरी या आपकी इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर हो रही है आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में थोड़ी सी कमी आ रही है तो इससे भी आपको लाभ मिलेगा

अश्वगंधा का सेवन करने से हमें विभिन्न प्रकार के रोगों से भी राहत मिलता है

प्रदर रोग
धातु रोग
मधुमेह
ऐसे विभिन्न रोगों से हमें राहत मिलता है अश्वगंधा जैसे दिव्य जड़ी बूटी का सेवन करने से

English Hindi